23.7k Members 49.9k Posts

प्रेरणा

प्रेरणा

जीवन है
प्रेरणा का
खजाना

बचपन में
माँ की प्रेरणा
चलना सिखाया
बोलना सिखाया
हाथ पकड़
संभलना सिखाया

किशोरावस्था में
पिता की प्रेरणा
पढना
बढ़ना
कमाना सिखाया

प्रेमिका बन पत्नी
बनी जवानी में प्रेरणा
प्यार
समर्पण
साथ जीना
साथ सुख दुःख में
जीना सिखाया

बुढापा बनी
नाती पोतों को
ऊँगली बन
आगे बढने की
प्रेरणा

प्रेरणा जीवन की
धूरी है
प्रेरणा जीवन की
पून्जी है
जितना संघर्षशील बनेंगे
प्रेरणा उतनी
मार्गदर्शक बनेगी

लेखक संतोष श्रीवास्तव भोपाल

Like Comment 0
Views 2

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
Santosh Shrivastava
Santosh Shrivastava
भोपाल , मध्य प्रदेश
691 Posts · 3.7k Views
लेखन एक साधना है विगत 40 वर्ष से बाल्यावस्था से होते हुए आज लेखन चरम...