मुक्तक · Reading time: 1 minute

*प्रेम रतन*

जग में कायम शान रखिए
खुद से भी पहचान रखिए
प्रेम रतन को बाँट – बाँट
सबसे दुआ सलाम रखिए
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

123 Views
Like
You may also like:
Loading...