Feb 17, 2017 · मुक्तक
Reading time: 1 minute

ज्ञान-दीपक

सूर्य डरता ना कभी भी बदलियों के राज से|
कुछ समय तक छिपे पर वह पुनि उगेगा नाज से |
मग के पत्थर रोक सकते न कभी आलोक-डग |
ज्ञान-दीपक जगमगाते हर्ष बन ऋतुराज से|

बृजेश कुमार नायक
“जागा हिंदुस्तान चाहिए” एवं “क्रौंच सुऋषि आलोक” कृतियों के प्रणेता

1 Like · 129 Views
Copy link to share
Pt. Brajesh Kumar Nayak
158 Posts · 44.4k Views
Follow 14 Followers
1) प्रकाशित कृतियाँ 1-"जागा हिंदुस्तान चाहिए" काव्य संग्रह 2-"क्रौंच सु ऋषि आलोक" खण्ड काव्य/शोधपरक ग्रंथ... View full profile
You may also like: