Skip to content

प्रीत अधूरी तुम बिन, “तुम बिन अधूरा संसार मेरा, है हर बात अधूरी तुम बिन,”तुम बिन अधूरा हर संगीत मेरा ।”~ एस के राठौर

Suneel Rathore

Suneel Rathore

कविता

June 8, 2017

प्रीत अधूरी तुम बिन, “तुम बिन अधूरा संसार मेरा , है हर बात अधूरी तुम बिन, “तुम बिन अधूरा हर संगीत मेरा ।”
~~~~~~~~~~~एस के राठौर

Share this:
Author
Suneel Rathore
Recommended for you