.
Skip to content

प्रीतम की कुंडलिया

Radhey shyam Pritam

Radhey shyam Pritam

कुण्डलिया

September 29, 2017

सुन प्रीतम की बात..कुंडलिया छंद
****************************
1..कुंडलिया
****************************
कल किसी के हाथ नहीं,बडे बोल न बोलो।
सबका आदर करो तुम,अहं सहित न डोलो।।
अहं सहित न डोलो,काल की मार कडी है।
सामने कौन टिके,यह करे खाट खडी है।
सुन प्रीतम की बात,काल में है असीम बल।
आज की खबर रखो,छोडो तुम काल पर कल।
*****************************
2..कुंडलिया
*****************************
प्रीति में छल न कीजिए,बुरी बहुत ये बात।
धन दे के आपको ज्यों,छीन लिया कर घात।।
छीन लिया कर घात,मन मलाल न जाए रे।
चमन बहार आए,मन साहस न आए रे।
सुन प्रीतम की बात,प्रेम की मनोहर प्रकृति।
नेक कर्म प्रभु सृजित,कवि-कविता की ज्यों प्रीति।
*****************************
3..कुंडलिया
*****************************
सुंदरता निहारो गर,वय में इजाफा हो।
ज्यों फूलों को देखके,मन सम पताका हो।।
मन सम पताका हो,गुलशन में जाया करो।
रंगीन चीजें निहार,खुदी रंग जाया करो।
सुन प्रीतम की बात,खून बनाय चंचलता।
सुरभि से भरे हृदय,बसकर नयन सुंदरता।
********राधेयश्याम बंगालिया
प्रीतम कृत****************??

Author
Recommended Posts
??दुख की माँ सिर धुनेगी??
सुन प्रीतम की बात..कुंडलिया छंद *************************** 1..कुंडलिया *************************** हँस फूलों की तरह तू,खिल चाँद-सा भैया। पार हो जाएगी रे, भव-सागर से नैया।। भव-सागर से नैया,ज़िन्दगी... Read more
प्रीतम की कुंडलिया..2
सुन प्रीतम की बात..कुंडलिया छंद *********************** 1..कुंडलिया *********************** दशहरा यूँ मनाइए,मन का रावण ढ़ले। प्रेम के हवन-यज्ञ में,बुराई पूर्ण जले।। बुराई पूर्ण जले,पावन हृदय हो... Read more
कुंडलिया-3... सुन प्रीतम की बात(3...कुंडलिया....3)
सुन प्रीतम की बात...कुंडलिया... छंद ***************************** 1-कुंडलिया सोच समझ फैसला लो,पछतावा न होगा। व्यर्थ गवाया पल अगर,वो आया न होगा।। वो आया न होगा,कीजिए कितने... Read more
कुंडलिया-3...सुन प्रीतम की बात
सुन प्रीतम की बात..कुंडलिया छंद दोहा+रोला=कुंडलिया छंद.......... 1-कुडलिया मरना जीना सत्य है, क्यों रोते हो बंधु। फूल झर टहनी से,मिले मिट्टी खो गंधु।। मिले मिट्टी... Read more