साक्षात्कार

झूठ बोल सकते हो ?
नहीं साहब l

चोरों लुटेरों की मदद कर सकते हो ?
नहीं साहब l

किसी निर्दोष और लाचार को सता सकते हो ?
नहीं साहब l

तो राजनीति में आने का सपना,
पूरी तरह भूल जाओ l
ऐसा करो, कुछ दिन,
दरोगा जी के साथ बिताओ l
बाद में आकर हाल बता जाना,
जब सब कुछ सीख जाओ,
तो राजनीति में आ जाना l

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

– राजीव ‘प्रखर’
मुरादाबाद
मो. 8941912642

Like Comment 0
Views 52

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share