.
Skip to content

* प्रभु वन्दना * तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ?

Neelam Ji

Neelam Ji

कविता

July 19, 2017

तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ?

तेरे बिना न कुछ भी मुझको भाता है ,
देखे बिन तुमको नहीं दिल ये बहलता है ।
सोते जागते हर पल तेरा ध्यान रहता है ,
तेरे बिना ये जीवन मुझे सुना लगता है ।।

तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ?

तेरे भजन में मुझको आनन्द आता है ,
देखे बिन तुमको नहीं दिन ये गुजरता है ।
तेरे सुमिरन बिन नहीं चैन मिलता है ,
बस तेरी भक्ति में दिल मेरा रमता है ।।

तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ?

हर पल नाम तेरा, मेरा मन ये ध्याता है ,
देखे बिन तुमको नहीं दिल ये लगता है ।
देख के महिमा तेरी दिल खुश हो जाता है ,
प्रभु तेरी लीला दिल समझ न पाता है ।।

तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ?

Author
Neelam Ji
मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी कब ये मैंने नहीं जाना ।। तब तक अपने ना सही ... । दुनिया के ही कुछ काम आना ।।
Recommended Posts
क्या तुमको हमसे प्यार नहीं ?
Neelam Ji गीत Jul 15, 2017
??????? हमें तुमसे प्यार कितना तेरा इंतजार कितना तुमको एतबार नहीं क्या तुमको हमसे प्यार नहीं । चाहा तुमको हद से ज्यादा तुमने किया ना... Read more
****   बीमार   ****
मै तेरे प्यार का बीमार हूँ ऐ जाने जिगर । तेरे प्यार की हर स्वांस से जिन्दा हूँ मगर । रफ़्ता-रफ़्ता ये जिंदगी मेरी चलने... Read more
मेरे प्रभु
प्रभु हो प्रभु तुम, मेरे प्रभु हो। करुणा के सागर, दयालु बड़े हो। जहाँ भी मैं जाऊँ, तेरा दर्श पाऊँ। मुड़ के जो देखूँ, तुझे... Read more
एक तेरा चेहरा
एक तेरा चेहरा भा गया मुझको कि नहीं चाह अब कोई बाकी मुझको उस को देख कर मुस्कुरा देता है दिल मेरा कि अब कोई... Read more