घनाक्षरी · Reading time: 1 minute

“प्यार हमारा सच्चा हो”

साथ तुम्हारा पाऊँ मैं , गीत तुम्हारे गाऊँ मैं,
खुद से प्यारे हो तुम , दिल तोड़ न देना।

देख तुझे हँसता हूँ , खुद को भूल जाता हूँ,
दिल में हो तुम बसे , मुख मोड़ न लेना।

मीठी बातें करते हो , मन मेरा हरते हो,
प्यार हमारा सच्चा हो , तन्हा छोड़ न देना।

फूलों में जैसे ख़ुशबू , चंदा में जैसे चाँदनी,
हम ‘प्रीतम’ ऐसे मिलें , आँसू जोड़ न देना।

💐आर.एस.प्रीतम💐

1 Like · 46 Views
Like
You may also like:
Loading...