Skip to content

प्यार भरा अहसास.

Ashok Kumar Raktale

Ashok Kumar Raktale

दोहे

June 19, 2016

रहे उदासी दूर ही,….जबतक माँ हो पास |
माँ की ममता में छुपा, प्यार भरा अहसास ||

होता है आवास में,..प्यार भरा अहसास |
जब अपनों के संग का, फैले वहां सुवास ||

निर्मल हो मन की धरा, तब देती आभास |
गैरों की हर इक ख़ुशी, प्यार भरा अहसास ||

जीवन की इस धूप में , रहा सदा ही ख़ास |
शीश पिता के हाथ का, प्यार भरा अहसास ||

रहा नहीं निज पर जिसे, थोड़ा भी विश्वास |
हुआ नहीं उसको कभी, प्यार भरा अहसास ||

अशोक कुमार रक्ताले.

Share this:
Author
Recommended for you