मुक्तक · Reading time: 1 minute

प्यार के रंग….

प्यार के रंग….

प्यार के रंग अपनी आँखों में लिए आ जाओ l
शब-ए-वस्ल को शोलों में बदलने आ जाओ l
दूर तलक हो राहे वफ़ा में आहटें रोशनी की ,
मेरे जज्बात ज़रा गीतों में बदलने आ ..जाओ ll

सुशील सरना

28 Views
Like
68 Posts · 2.5k Views
You may also like:
Loading...