कविता · Reading time: 1 minute

प्यार का अंदाज , कैसा होगा

इतना भी पास न आओ
की दुश्मनी हो जाये
इतना भी दूर न जाओ
की आप से प्यार हो जाये

दुश्मनी और प्यार तो अलग
अलग पहलू हैं जिन्दगी के
जीवन में कडवाहट न हो
बस इतना प्यार हो जाये

प्यार में हदे न पार कर देना
कि जीवन प्यार प्यार हो जाये
बर्बाद होती हैं खुशियन यहाँ
प्यार के बाद न तकरार हो जाये

आपस का मेल जोल सुहाना लगता है
हर प्यार में बुरा भी अच्छा लगता है
इक कमजोरी अगर पनप जाये यहाँ
फिर हर प्यार का अंजाम बुरा लगता है !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

99 Views
Like
Author
शिक्षा : एम्.ए (राजनीति शास्त्र), दवा कंपनी में एकाउंट्स मेनेजर, कविता, शायरी, गायन, चित्रकारी की रूचि है , Books: तीन कविता साहित्यापेडिया में प्रकाशित हुई है..यही मेरा सौभाग्य रहा है…
You may also like:
Loading...