प्यारी सी बेटियाँ

इस दुनियामें ऐसा कोई काम नहीं है

जो बेटियों ने करके नां दिखाया है ,

छोटी सी वो गुड़िया बनकर रहती हे

पापा मम्मी की जान बनकर रहती हे ,

सुनती आई हे सदियों से ये बातें सबकी

ये करो ये ना करो की, सख्तियॉ सहती हे,

रहे कितने ही अवरोध को तोड़ती हुई

बनकर गंगा की धार सी निकली है,

अपने घरको अपना बनाकर पूरा कहा जिया

की दूसरा घर संवारने बिछड़ती हे बेटियांँ,

लाख दुःख यहाँ सहकर भी उफ़ ना करे

नये जीव को जन्म देकर हँसती हे बेटियांँ .

-मनिषा जोबन देसाई

Voting for this competition is over.
Votes received: 90
1 Like · 727 Views
Architect-interior designer from surat -gujarat-india writng story -gazals-haiku in gujarati and hindi
You may also like: