Jun 9, 2016 · मुक्तक
Reading time: 1 minute

पेड़ों का परिवार

खूब बढ़ाना है हमें ,पेड़ों का परिवार
इनसे ही खुशहाल है, ये सारा संसार
अन्न फूल फल छाँव ये , देते हैं भरपूर
करते रहते साथ में , प्राणवायु संचार
डॉ अर्चना गुप्ता

1 Comment · 34 Views
Copy link to share
Dr Archana Gupta
996 Posts · 120.7k Views
Follow 73 Followers
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी तो है लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद... View full profile
You may also like: