*पेड़*

जीवन का श्रँगार पेड़ हैं
संकट की पतवार पेड़ हैं
बिन इनके है सब कुछ सूना
हर सुख का आधार पेड़ हैं
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

Like Comment 0
Views 9

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share