Reading time: 1 minute

“पुरानी डायरी”

एक पुरानी डायरी मे,
मुझको तेरा पता मिला..,
कुछ पुरानी यादे मिली,
कुछ पुराना वफ़ा मिला..,
सब लिखा था डायरी मे,
ज़ुल्फ़ से लेकर पाँव तक..,
तेरी-मेरी दिल लगी से,
दिलपर लगे घाव् तक..,
तेरा मिलना लिखा-
पास आना लिखा,
सब लिखा निखारकर..,
बड़ी नज़ाकत से डायरी लिखा,
तुमको ग़ज़लो मे उतारकर..,
न कोई शिकवा मिला,
न कोई गीला मिला…,
फिर भी एक पन्ने पर,
तेरा छोड़ जाना मिला..,
जिस पुरानी डायरी मे,
मैं खुद को लापता मिला..,
उसी पुरानी डायरी मे,
मुझको तेरा पता मिला..,

(((((ज़ैद बलियावी)))))

1 Like · 169 Views
ज़ैद बलियावी
ज़ैद बलियावी
34 Posts · 7k Views
Follow 1 Follower
तुम्हारी यादो की एक डायरी लिखी है मैंने...! जिसके हर पन्ने पर शायरी लिखी है... View full profile
You may also like: