.
Skip to content

पुनः सोने की चिड़िया बनने को…

Dinesh Sharma

Dinesh Sharma

कविता

August 14, 2016

मेरा प्यारा देश
चल पड़ा तरक्की की राह पर
पुनः सोने की चिड़िया बनने को
खुशहाली होगी जहाँ हर घर-आँगन में
जहाँ बसता है ईश्वर कण कण में
चंदा-सूरज देख मुस्कुरायेगें
धरती की हरियाली देख
मेरा प्यारा देश
चल पड़ा तरक्की की राह पर
पुनः सोने की चिड़िया बनने को,
प्रेम सदभाव सुख शान्ति है
जहाँ देखो,है भाई चारा
सबसे न्यारा सबसे प्यारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा।।

*जय हिन्द*
स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं***?☺?

^^^^^^दिनेश शर्मा^^^^^^

Author
Dinesh Sharma
सब रस लेखनी*** जब मन चाहा कुछ लिख देते है, रह जाती है कमियाँ नजरअंदाज करना प्यारे दोस्तों। ऍम कॉम , व्यापार, निवास गंगा के चरणों मे हरिद्वार।।
Recommended Posts
सोने की चिड़िया
एक रंग बिरंगी, आकर्षक,बहुत निराली थी चिड़िया, तिनका तिनका तोड़ जोड़ कर,रहने आई थी चिड़िया! बड़े वृक्ष की ऊंची शाख पर, छोटा अपना घर बना... Read more
??मेरा देश ??
आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं आपका दिन मंगलमय हो ?????????????? मेरा देश है अलबेलों का, शहीद वीर जवानों का। यहां उगते हीरे... Read more
कही सचका फसाना.....
कही सचका फसाना चल रहा है, कहीं झूठा जमाना चल रहा है, मै शायर हूँ मेरा इक शायिरा से, कहीं टाँका भिडा़ना चल रहा, वो... Read more
प्यारा हिन्दुस्तान है
आओ प्यारे मिलकर गावो, प्यारा हिन्दुस्तान है। जिसकी माटी के कण कण से, निकले गंध महान है।। हीरा मोती सोना चांदी, भरे अकूत भण्डार है।... Read more