पिता

?पिता ताकत
धौंस भरी आहट
घर की छत ?

?पिता सहारा
सपनों को साकारा
दिया किनारा ?

?पिता गंभीर
अंदर से वे धीर
ऐसी तासीर ?

?पिता सारथी
जिम्मेदारी से लदी
गाड़ी खिंचती ?

?पिता विश्वास
हिम्मत और आस
परिवार की ?

?पिता वंदन
सुगंधित चंदन
एक संबल ?

?पिता जागीर
जिसके पास हैं ये
वह अमीर ?

?पिता जीवन
जीविका उपार्जन
पालनहार ?—लक्ष्मी सिंह ??

Like Comment 0
Views 129

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share