पापा

मैं हूँ पापा की परी , उनकी दिल-ओ-जान।
दिनभर मनमानी करूं , कहते वो शैतान।

पापा जी मेरे लिए , लाना मिल्की बार।
देर किया तुमने अगर, नहीं मिलेगा प्यार।।
वेधा सिंह

Like Comment 0
Views 6

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share