पापा की परी

वरदान होती हैं बेटियां
क्या नहीं होती हैं बेटियां
गुलशन की कली
घर की सहन
चाँद आसमाँ की
सब कुछ होती हैं बेटियां
पापा की परी
माँ की लाडो
घर भर के आंखों का तारा
भाई से प्यारी तकरारो की
मीठी एहसास होती हैं बेटियां

2 Likes · 160 Views
Sandeep Raaz Anand
Sandeep Raaz Anand
Kushinagar
10 Posts · 730 Views
Student of Hindi Sahitya University of Allahabad Blog:-sandeepraazart.wordpress.com Prayagraj (Allahabad) (Uttarpradesh)
You may also like: