पहली मुलाकात

आज के दिन एक खुबसूरत हसीना जिंदगी में आयीं।

प्यारी सी मुस्कान के साथ शरमाई ,

गुलाबी लिबाज़ में नूर गजब का लायी ।

आज के दिन एक खूबसूरत हसीना जिंदगी में आयीं।

मिले आज पहली बार पर, दिल के नाते जन्मों के लगते हे।

अजनबी तो हे , पर वो अपने लगते हे ।

पता नही केसे इश्क़ की हवा इस रूक्ख नजर लायी।

आज के दिन एक खुबसूरत हसीना जिंदगी में आयीं।

Like Comment 0
Views 10

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing