परिणाम आ रहें हैं,परिणाम आ रहें हैं

हाथों के इशारे कमल खिला रहे हैं,
परिणाम आ रहें हैं,परिणाम आ रहें हैं।

देखेंगे भैया पप्पू बाँहें हैं ऊपर करते,
चुनाव हार कर वह इटली पसन्द करते,
देखिये के बिना वह न भाषण पूरा करते,
चुनाव हार कर वह वायनाड में बसेंगे,
इसलिए वह न्याय पर इतना इतरा रहें हैं,
परिणाम आ रहें हैं,परिणाम आ रहें हैं।1।

हाथी साइकिल का नया संग जो हुआ है,
पहले था बबुआ अब वह उनकी बुआ है,
हाथी है वजनीला,साईकिल है बहुत हल्की,
टीएमसी ने न अपनी जीत अभी तय की,
न हुई एकता यदि नायडू दर्द न सह सकेंगे,
इसलिए वह हर एक द्वार-द्वार जा रहें हैं,
परिणाम आ रहें हैं,परिणाम आ रहें हैं।2।

‘आप’ने ‘साफ’का पाप जो किया है,
अन्ना हजारे जी को दर्द जो बुरा दिया हैं,
मोदी जी मेरे दुश्मन और घातक पिया हैं,
परिणाम आ रहें हैं धड़के मेरा जिया है,
हार गई आप गर तो मोदी सपने में दिखेंगे,
इसलिए अरविन्द हर एक को फोन लगा रहे हैं,
परिणाम आ रहें हैं,परिणाम आ रहें हैं।3।

***अभिषेक पाराशर***

Sahityapedia Publishing
Like Comment 0
Views 7

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share

Do you want to publish your book?

Sahityapedia's Book Publishing Package only in ₹ 9,990/-

  • Premium Quality
  • 50 Author copies
  • Sale on Amazon, Flipkart etc.
  • Monthly royalty payments

Click this link to know more- https://publish.sahityapedia.com/pricing

Whatsapp or call us at 9618066119
(Monday to Saturday, 9 AM to 9 PM)

*This is a limited time offer. GST extra.