.
Skip to content

परिचय

avadhoot rathore

avadhoot rathore

कविता

February 18, 2017

परिचय ख़ुद से कर मना,मिले ख़ुदी का भान ।
उससे नित हो सामना ,रमे उसी
में ध्यान ।
रमे उसी में ध्यान,होय अजपा-
जप अरचय।
मिले परम-पद स्थान, किया जब
ख़ुद से परिचय।।

Author
Recommended Posts
परिचय
???परिचय??? मात-पिता की प्यारी बेटी, सोहणी,राजदुलारी बेटी, सहोदरों की प्यारी बहना, पीहर का परिचय क्या कहना| सुघढ़,सयानी,बन वधु आई, अपने पिय के मैं मन भाई,... Read more
इश्क के खत तेरे- गीत
Kamlesh Sanjida गीत Jul 27, 2017
जो उजालों में न मिले , वो अंधेरों में मिले इश्क के खत तेरे, बस किताबों में मिले हमको न पता था , कि इस... Read more
जमाना हुआ खुद से मिले
वक्त मिले तो बैठूं अपने साथ की जमाना हुआ खुद से मिले। करूँ कुछ शिकवे करुँ कुछ गिले की जमाना हुआ खुद से मिले। थे... Read more
साथ हमको कभी तो तुम्हारा मिले
साथ हमको कभी तो तुम्हारा मिले ज़िन्दगी को जरा सा सहारा मिले गर न लाये ज़माना ये तूफ़ान तो प्यार की कश्तियों को किनारा मिले... Read more