.
Skip to content

पत्थरबाजों की शामत…..

तेजवीर सिंह

तेजवीर सिंह "तेज"

घनाक्षरी

April 16, 2017

??? मनहरण घनाक्षरी ???

शिल्प – 8-8-8-7

??????????

सेना कौ नयौ प्रयोग
ख़ुशी अति भये लोग
सब दोऊ हाथन ते
तालियां बजा रहे।

बांध जो चले हो आप
जीप पर जिहादी को
शोहदों के सुधार कुं
रीत अपना रहे।

देख-देख कहें लोग
*पीछे भी तौ बांधौ एक*
कोउ पत्थर मार दे
यही समझा रहे।

*तेज* करी सेवाचार
पिछवाड़े पै प्रहार
*जय हिंद* कह अब
खूबई चिल्ला रहे।।

??????????
तेज?✍16/4/17

Author
तेजवीर सिंह
नाम - तेजवीर सिंह उपनाम - 'तेज' पिता - श्री सुखपाल सिंह माता - श्रीमती शारदा देवी शिक्षा - एम.ए.(द्वय) बी.एड. रूचि - पठन-पाठन एवम् लेखन निवास - 'जाट हाउस' कुसुम सरोवर पो. राधाकुण्ड जिला-मथुरा(उ.प्र.) सम्प्राप्ति - ब्रजभाषा साहित्य लेखन,पत्र-पत्रिकाओं... Read more
Recommended Posts
शहर के लोग
Raj Vig कविता Jan 23, 2017
मेरे शहर मे जो रहते है लोग अलग से वो सब लगते हैं लोग दूसरो को नसीहत देते हैं लोग खुद सब गलत करते हैं... Read more
घनाक्षरी
घनाक्षरी 8 8 8 7 ************** मेरे प्यारे प्यारे कान्हा सब के दुलारे कान्हा माखन सजा है रखा अाके उसे खाइये । ग्वाल बाल साथ... Read more
रमेशराज का हाइकु-शतक
-----------------------------------------------------1. नाम लिखा था { 5 वर्ण , 8 मात्राएँ } हमने जल पर { 7 वर्ण , 8 मात्राएँ } खोये अक्षर | {... Read more
कतराने लगे है लोग
कतराने लगे है लोग अब तो किसी को पानी पिलाने से भी कतराने लगे है लोग ! क्या कहे सामूहिक भोज भी मुँह देख खिलाने... Read more