पंजाब का रावण दहन

*पंजाब का रावण दहन
********
“प्रशासन ही गलत था , या अंधी सरकार !
चारों तरफ जो मच गया , इतना हा हा कार!!
इतना हा हा कार , सैंकडो विधवा हुईं *सीता* !
किस नालायक ने , जश्न का काटा था फीता !!
कह *”सागर “* कविराय , अंध भक्ति का भारत!
होते हैं हर रोज , कितने ही लोग अखारत !!
********
बैखोफ शायर/गीतकार/लेखक
*डाँ. नरेश “सागर” बौद्ध*
****** 9897907490
21/10/18

Like 1 Comment 0
Views 32

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing