कविता · Reading time: 1 minute

नैना

विषय नैना.

नैनो से नैना कहे ,सुन नैनो की बात.
नैना तो नटखट सखी,समझे दिल की बात.

नैनो से नैना मिले ,नैना लिये झुकाय.
नैनो के रस्ते पिया,दिल में लिया बसाय.

जादू तेरे नैन का ,खीचे तेरी ओर.
तेरी गलियाँ आ गई,मैं साजन बिन डोर

नैनो से बच के रहो ,नैना है चितचोर.
नैनो का जादू चला ,मन चाले उत ओर.

नैना तेरे झील से,कहे घनेरी बात.
सोचत सोचत दिन गया ,नही कटे है रात

सजना तेरे नैन में ,मेरा रूप समाय.
बिन तेरे ओ साजना ,कुछ भी नही सुहाय

संगीता शर्मा.
10/3/2017

969 Views
Like
You may also like:
Loading...