Skip to content

“”””””नेता जी “”””””

Santosh Barmaiya

Santosh Barmaiya

कविता

April 23, 2017

व्यंग्य
*********
मेरे देश का दुर्भाग्य, यहां नेता बूढ़ा होता है।
नवयुवक बूढ़ा होते तक, नेता को ढोता है ।।

सोच पर न जा पगले, बुढ़ापा भूत दिखलाए।
नवयुवक भविष्य काल के सपने संजोता है।।

समाज को न दे कुछ,बस लेता ही लेता है ।
राज करने की नीति बनाए वही नेता होता है।।

साक्षात्कार में एम एल ए का पूछा जब मतलब,
इसकी न पड़ी जरूरत , कह नेता मुस्काता है।।

खेल अध्यक्ष नेता, कप्तान से किया सवाल ।
नो बाल रहे, बॉलर छः फेक क्यों लौट जाता है?

जो भी आए टी वी पर विकास उसका मूलमन्त्र।
गैस, रसोई, पानी,तेल, सब पर टैक्स लगाता है।।

कैसे हो सोचो इस देश का उद्धार दोस्तों ? जहां,
जो दे चंदा उसका नेटवर्क, बाकी व्यस्त दिखाता है।।

दुनिया चलाती एटजी, नौजी, दसजी नेटवर्क, यहां,
विकास के मारे थ्री जी भी कमजोर पड़ जाता है।।

सुबह से लेकर शाम तक जाने कितनो से काम पड़ा,
किसी का भी नहीं धर्म, जो लड़ना सिखलाता है।।

रोज शाम को चन्द नेताओं की बहस देखते टी वी,
धर्म मन्दिर-मस्जिद का मुद्दा लंबा खींचा जाता है।।

यह ऐसी खेले राजनीति, शहीदों के खून से यहाँ,
सैनिक शहादत को मुठभेड़ की मौत बोल जाता है।।

अच्छा हुआ मेरे मुल्क की सेना में नेता नही साहब,
वरना कहते! है खरीददार, ये देश बेचा जाता है।।

चुनाव के दौर में, एक सच सामने आया “जय”,
“नेता बाप” की “आह” से, बेटा चुनाव हार जाता है।।
************
संतोष बरमैया “जय”

Share this:
Author
Santosh Barmaiya
मेरा नाम- संतोष बरमैया"जय", पिताजी - श्री कौशल किशोर बरमैया, ग्राम- कोदाझिरी,कुरई, सिवनी,म.प्र. का मूल निवासी हूँ। शिक्षा-बी.एस.सी.,एम ए, डी.ऐड,। पद- अध्यापक । साझा काव्य संग्रह - 1.गुलजार ,2.मधुबन, 3.साहित्य उदय,( प्रकाशाधीन ), पत्रिका मछुआ संदेश, तथा वर्तमान मे साहित्य-नवभारत... Read more

क्या आप अपनी पुस्तक प्रकाशित करवाना चाहते हैं?

साहित्यपीडिया पब्लिशिंग से अपनी पुस्तक प्रकाशित करवायें और आपकी पुस्तक उपलब्ध होगी पूरे विश्व में Amazon, Flipkart जैसी सभी बड़ी वेबसाइट्स पर

साहित्यपीडिया की वेबसाइट पर आपकी पुस्तक का प्रमोशन और साथ ही 70% रॉयल्टी भी

साल का अंतिम बम्पर ऑफर- 31 दिसम्बर , 2017 से पहले अपनी पुस्तक का आर्डर बुक करें और पायें पूरे 8,000 रूपए का डिस्काउंट सिल्वर प्लान पर

जल्दी करें, यह ऑफर इस अवधि में प्राप्त हुए पहले 10 ऑर्डर्स के लिए ही है| आप अभी आर्डर बुक करके अपनी पांडुलिपि बाद में भी भेज सकते हैं|

हमारी आधुनिक तकनीक की मदद से आप अपने मोबाइल से ही आसानी से अपनी पांडुलिपि हमें भेज सकते हैं| कोई लैपटॉप या कंप्यूटर खोलने की ज़रूरत ही नहीं|

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें- Click Here

या हमें इस नंबर पर कॉल या WhatsApp करें- 9618066119

Recommended for you