निस्वार्थ सेवा कर के तो देखो.

जिन्दगी में गर तुमने साथ दे दिया किसी का
और वो भी निस्वार्थ दे दिया तुमने किसी का
तो समझो जीवन में बहुत कुछ पा लिया तुमने
उजड़ा घर संवार कर उसको जीवन दे दिया तुमने !!

तमाशा तो गली मोहल्ले में बन्दर वाला भी दिखा देता है
तुम क्यों अपना तमाशा खुद बनाने में आतुर हो रहे हो
तमाशा बना कर किसी का देखना सब से बड़ा गुनाह है
क्या अगर कोई तुम्हारा बनाये तो कैसा लगता है !!

दूसरों पर हँसना शायद सब से आसान हैं लोगो
खुद पर किसी को कोई हंसाये तो जिन्दगी है दोस्तों
हँसना अच्छा लगता है सबको, तो क्यूं न गम भूल
कर हम आज से ही सब को हंसाएं मेरे दोस्तों !!

झूठ कि बुनियाद मैने बनते कभी नहीं देखी
सच का सामना करने से लोगो को डर लगता है
एक झूठ को छुपाने में जीवन गुजर जाता है
तो क्यों न सच को आज से अपनाये मेरे दोस्तों !!

वादा करके मुकर जाना, कुछ लोगो की फितरत हे
जब निभाया ही नहीं जाता तो क्यों करते हो दोस्तों
तुम्हारे उस वादे का असर उस के जीवन में क्या करता है
इस के लिए किसी से वादा एक बार करके तो देखो दोस्तों !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

1624 Views
शिक्षा : एम्.ए (राजनीति शास्त्र), दवा कंपनी में एकाउंट्स मेनेजर, पूर्वज : अमृतसर से है,...
You may also like: