नारी शोषण

जो देवत्व का छद्म चोंगा ओढ़कर रहते हैं I
वे ही नारी अस्मिता को तार तार करते हैं I
दोष स्त्री का नहीं पुरुष कुत्सित मंशा का होता-
तभी साधुवेश धारी नारी के सतीत्व को छलते हैं I
.
विनय कुमार अवस्थी
स्वरचित
07.04.2017

Like Comment 0
Views 323

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing