नारी शोषण

जो देवत्व का छद्म चोंगा ओढ़कर रहते हैं I
वे ही नारी अस्मिता को तार तार करते हैं I
दोष स्त्री का नहीं पुरुष कुत्सित मंशा का होता-
तभी साधुवेश धारी नारी के सतीत्व को छलते हैं I
.
विनय कुमार अवस्थी
स्वरचित
07.04.2017

336 Views
वर्तमान निवास : देहरादून (उत्तराखंड) व्यवसाय : अपर महाप्रबंधक , एन टी पी सी लिमिटेड...
You may also like: