कविता · Reading time: 1 minute

नाना का दीवाना

कल रात सपने में,
आए थे मेरे नाना
हम उनको देख कर ,
हो गए दीवाना,
बोले हमसे सुबह उठ कर ,
चले जाना पैखाना
मैने मान ली उनकी ये बात,
और शौचालय से ,
आकर धो लिया हाथ।

पूर्णतः मौलिक
….KN

3 Likes · 1 Comment · 316 Views
Like
You may also like:
Loading...