23.7k Members 50k Posts

नशा

उसके अंदाज़े इश्क़ का,
नशा था कुछ अजीब सा।
लोग होंठो से पिलाते है,
वो आंखों से पिलाती थी।

©® पांडेय चिदानंद “चिद्रूप”
(सर्वाधिकार सुरक्षित २४/१०/२०१८ )
_________________________________

13 Likes · 2 Comments · 16 Views
पाण्डेय चिदानन्द
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
रेवतीपुर, देविस्थान
144 Posts · 3.6k Views
-:- हो जग में यशस्वी नाम मेरा, है नही ये कामना, कर प्रशस्त हर विकट...
You may also like: