कविता · Reading time: 1 minute

नव वर्ष

नई दृष्टि, नया उत्कर्ष
नव वर्ष, नव वर्ष
नया सृजन,नया संघर्ष
नव वर्ष,नव वर्ष।

नया उछाह, नव प्रवाह,
नए भँवर,नई डगर
नया उजास,नई प्यास
नया सृजन,नया संघर्ष
नव वर्ष,नव वर्ष।

नई अभीप्सा तिमिर को
चीरती , फलांगती
नई परिकल्पना मनस में
ओज भरती, भागती
नई दिशाओं को नमन
नई प्रभात का हर्ष
नव वर्ष,नव वर्ष।

नया समय,नई प्रहर
नई निशा, नई सहर
नई किरण का ताप नव
नई डगर का साथ नव
नए उछाह को नमन
नया प्रणय, नया स्पर्श
नव वर्ष,नव वर्ष।

नए उफान,नव प्रमाण
नवीन गीत,नए गान
नई आस,नए भाष
नए समय की छाप नव
नए पल का आभास नव
नया जीवन,नव आदर्श
नव वर्ष,नव वर्ष।

विपिन

37 Views
Like
55 Posts · 3.1k Views
You may also like:
Loading...