#नव वर्ष पहले तुम्हे मुबारक#

नये साल मे क्या बदलेगा ???
सिर्फ कलेंडर बदलेगा या …
सरहद का माहौल भी ,
गया साल जो छीन ले गया
उसकी भरपाई होगी या
यही सिलसिला लूटपाट का
होगा अबकी बार भी!!
ऐसे ही जाधव की मां
और पत्नी अपमानित होगी
या ऐसे ही दुनिया देखेगी
भारत की लाचाऱगी!!
ऐसे ही जश्न मनायेगे
भारत के बच्चे रातों को
देशभक्ति से परे बढ़ रही
क्या इनमें आवाऱगी!!
इन्हे ख़बर क्या बीती रात
फिर कोहराम मचाया है
नये साल ने ख़बर दबा ली
बेटों के नरसंहार की !!
जश्न मनाओ ,जश्न मनाने
की न कोई मनाही है
लेकिन आग जलाये रखना
अपने स्वाभिमान की!!!
मेरा पहला शुभसंदेश
भारत मां के बेटों को
फिक्र बनाये रखना हरपल
शहीदों के परिवार की !!!
** वीरों की शहादत को साल की पहली श्रद्धांजलि…
#प्रियंका मिश्रा_प्रिया

1 Like · 1 Comment · 116 Views
Books: *आखर (काव्य संग्रह) मृगनयना( प्रेम काव्य संग्रह) Awards: काव्य सागर
You may also like: