Jan 3, 2017 · गीत
Reading time: 1 minute

नवबर्ष गीत

गीत
– – – – – – – – —”’——–
नवबर्ष का इस तरह आधार हो ।
प्यार ही बस प्यार ही बस प्यार हो ।
•••••••••••••••••
पुष्प, चन्दन की महक आँगन बसे ।
नव हर्ष औ नव तराना मन बसे ।
°°°
सप्त रंगों में सना श्रृंगार हो ।
नवबर्ष का. …………..
••••••••••••••••••
सफलता भी चूम ले प्यारे कदम।
न हो आँखें कभी भी आपकी नम।
°°°°
हँसता हुआ यूँ आपका परिवार हो ।
नवबर्ष का इस. ………….
••••••••••••••••••
ईश्वर कृपा से स्वस्थ हो, दौलत रहे ।
अच्छे कर्म में मन हमेशा रत रहे ।
°°°
घर बहारों की सदा भरमार हो ।
नवबर्ष का इस तरह आधार हो ।
……..
——@विवेक आस्तिक – – – – –

46 Views
Copy link to share
विवेक आस्तिक, पिता का नाम - श्री राम आसरे शर्मा, शिक्षा- डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग,... View full profile
You may also like: