कविता · Reading time: 1 minute

” नर्स “

ये एक ऐसा पेशा होता है ,
जहां किसी के आने की कामना नहीं होता हैं ।

स्वस्थ हो कर घर जाने की दुआं हर वक्त होता है ,
बिना मांगे पूरा हक मरीज़ पर होता है ।

निस्वार्थ प्रेम से सेवा होता है ,
यहां ना कोई अपना ना पराया होता है ।

किसी का जीवन हमारे हाथ में नहीं होता है ,
फिर हृदय से शुभकामना ही निकलता है ।

कुछ पल के लिए जब मरीज़ भर्ती होता है ,
अपनों से भी बढ़कर उसका देखभाल होता है ।

नर्स का हृदय बड़ा मजबूत होता है ,
हर दर्द सिर्फ एक मुस्कान से गायब होता है ।

ना कोई बड़ा ना कोई छोटा होता है ,
इसलिए नर्स का काम सेवा ही तो होता है ।

🙏 धन्यवाद 🙏

✍️ ज्योति ✍️
नई दिल्ली

2 Likes · 2 Comments · 24 Views
Like
250 Posts · 8.7k Views
You may also like:
Loading...