कविता · Reading time: 1 minute

!!नया वर्ष शुचि मङ्गलमय हो!!

(चैत्र शुक्ल प्रतिपदा संवत् – २०७६)
——————————————–
नया वर्ष शुचि मंगलमय हो
समस्त गुण अर्जित हों,
दुर्गुणों का क्षय हो
ना कोई चिंता
ना कोई भय हो
नया वर्ष शुचि मंगलमय हो ।

स्वस्थ रहे सब जन
प्रफुल्लित हो मन
मस्तिष्क मे सब ज्ञान सजे
प्रेम हृदय की सदा ही जय हो
नया वर्ष शुचि मंगलमय हो ।

संस्कारित हों सब नर नारी
आशावादी कर्म पुजारी
समस्त संकट डर कर भागे
नही हृदय मे कहीं भी भय हो
नया वर्ष शुचि मंगलमय हो ।

बच्चे न हों अपढ़ अभागे
रहें हमेशा सबसे आगे
मात-पिता गुरू सेवा से
नैतिकता की सदा विजय हो
नया वर्ष शुचि मंगलमय हो ।

धर्म सदा ही ध्यान दिलाये
ज्ञान पिपासा मन मे लाये
विष्व का कल्याण कराये
व्याप्त कहीं पर नही अनय हो
नया वर्ष शुचि मंगलमय हो ।

।। पंकज पाण्डेय ।।

31 Views
Like
Author
21 Posts · 929 Views
V.Narayanpur Saraiya Post-Bhatni Distt.-Pratapgarh up
You may also like:
Loading...