कविता · Reading time: 1 minute

नमन

अटल तन नहीं होता
अटल होता है व्यक्तित्व
व्यक्तित्व पलता है
विवेकशील चिंतन से
तर्कशील मनन से
व्यष्टि के हवन से ॥

अटल व्यक्तित्व की धनी
हस्तियाँ होती हैं गिनी-चुनी
11 जनवरी 66 को लाल बहादुर
16 अगस्त 18 को अटल
दो निरापद जीवन विमल
गये कर जीवन सफल ॥

37 Views
Like
Author
86 Posts · 6.2k Views
मूलतः ग्वालियर का होने के कारण सम्पूर्ण शिक्षा वहीँ हुई| लेखापरीक्षा अधिकारी के पद से सेवानिवृत होने के बाद साहित्य सृजन के क्षेत्र में सक्रिय हुआ । ``गंध सुगंध`` एवम्…
You may also like:
Loading...