.
Skip to content

नमन है भारत के वीरों को शेरो की सन्‍तानो को

bharat gehlot

bharat gehlot

कविता

June 9, 2017

नमन है भारत के वीरों काे शेरो की सन्‍तानों को ,
जिन वीरो के नाम से ही दुश्‍मन यु थर्राता है ,
रहते है बडी मुश्‍किलो में सीमा पर तैनात यह ,
देश में जब हो दिवाली वो लहु की होली खेलते है ,
न दिन को उनको चैन है न रातों को आराम है ,
सो सके चैन की नींद देश्‍ावासी हर समय यह चौकस रहते है ,
वो रहते है मिलजुल ऐसे जैसे हो एक मॉ की सन्‍ताने ,
भेदभाव मिटाकर कहते हिन्‍दु , मुस्‍िलम ,सिख्‍ा ईसाई सब एक ईश्‍वर की संतान है ,
वो हमको यह समझाने मिलजुल सभी रहे हरदम यह रहबर का पैगाम है ,
रहबर का पैगाम यह कहता न लडो यहा पर भुख्‍ण्‍ड की खातिर ,
किसी की धरती है न किसी का यहा आसमान है ,
दुविधाओ से न घबराए उन सैनिको को सलाम है ,
इन साहसी सैनिको की बदौलत हिन्‍दुस्‍तान की अान बान और शान है ,
कहता यह हाथ जोडकर गहलोत ,
भले बनाओ बच्‍चो को डाॅक्‍टर, इंजीिनयर लेकिन बस यह ध्‍यान रहे,
कभी भी भुल से भी यह न भूले सैनिक हिन्‍दुस्‍तान की अान बान और शान है ,
भरत गहलोत
जालाेर राजस्‍थान
सम्‍पर्क 7742016184

Author
bharat gehlot
Recommended Posts
**** नमन करगिल के वीरों को *****
**** नमन करगिल के वीरों को ***** करगिल के वीर जवानें का , दिल से अभिनंदन करते हैं, जान हथेली पर रखकर जो , कभी... Read more
जी दुखता है
*लावणी छंद* जी दुखता है मरते देखा, जब जब सैनिक सीमा पर। धधक रही है ज्वाला मन में, है प्रत्युत्तर धीमा पर। शस्त्र चला देते... Read more
**जय हिंद,जय भारत**
उन वीरों को शत-शत नमन जिनके बलिदानों की खातिर आज हम स्वतंत्र भारत की खुली हवा में सांस ले रहे हैं ।। स्वतंत्रता दिवस की... Read more
सच्चे प्रहरी हो ...
चैन से हम सो सके इसलिए तुम गश्त लगाते हो शेर की मॉद मे घुसकर के तुम गीदड उसे बनाते हो भारत के सच्चे प्रहरी... Read more