नग्नता को रोकना होगा

यदि संस्कृति बचाना चाहते हो
यदि भारीतयता बचाना चाहते हो
आध्यात्म को समझना होगा
इस नग्नता को रोकना होगा
समाज में सौहार्द चाहते हो
परिवार में प्यार चाहते हो
सत्य ज्ञान समझना होगा
इस फूहड़ नग्नता को रोकना होगा
नारी मनोरंजन मात्र रह गई
इसे फिर सम्मान को पाना होगा
आम्रपाली या वैशाली को
आध्यात्म शरण में आना होगा
इस नग्नता को रोकना होगा
छोटे हुए परिधानों में
न्यून हो चुके परिधानों में
लज़्ज़ा का संस्करण देना होगा
इस नग्नता को रोकना ही होगा
पुरुष नहीं अधिकारी भोग का
स्त्री नहीं भोग कोई वस्तु है
ये व्यापर अब रोकना होगा
हज़ारो पद्मियों की कह रही चिताएं
हमने जौहर दिखलाया था
अपनी अस्मिता को प्राणों का
भय भी न डीग पाया था
शपथ उन्ही वीर बालाओं की
ये साहस दिखलाना होगा
संसद में बैठ देखते मूवी पोर्न जो
निष्काषित समाज से करना होगा
इस नग्नता को रोकना होगा

6अगस्त2016

3 Likes · 10 Comments · 175 Views
Dr.pratibha d/ sri vedprakash D.o.b.8june 1977,aliganj,etah,u.p. M.A.geo.Socio. Ph.d. geography.पिता से काव्य रूचि विरासत में प्राप्त...
You may also like: