Dec 16, 2020 · कविता
Reading time: 1 minute

नई आफ़त (करोना)

करोना
नई यारों एक आफ़त आई,
जिसने सारी दुनिया डराई।

पहले कहा वायरस करोना,
अब कहने लगे कोविंड- ऊनी।
कोई कहे अमरीकें ने छोड़ा,
कोई कहे यह पैदाईश चीनी।
कोई भी ना इलाज़ है इसका,
ईश्वर तूंही इस से अब बचाई।
नई यारों…

खांसी – ज़ुकाम, गला दुखना,
बुख़ार और दुखते हड्ड -पैर है।
आम फ्लू जैहै इसके लक्षण,
परन्तु यहाँ साँस उखड़ते ढ़ेर है।
पेश चले ना डाक्टरों की,
मुश्किल में है यह लोकाई।
नई यारों…

इलाज़ से परहेज़ अच्छा,
बात न लोगों को समझ आए।
ख़ुद को कैसे अलग रखना,
क्यों सामाजिक दूरी अपनाई जाए।
फिर बीमारी नज़दीक ना लगे,
मनदीप रखें अगर ख़ुद की सफ़ाई।
नई यारों…
मनदीप गिल धड़ाक
गाव- धडाक कलां
जिला – मोहाली

Votes received: 74
33 Likes · 77 Comments · 322 Views
Copy link to share
Mandeep Gill Dharak
9 Posts · 2.8k Views
Follow 2 Followers
मैं गाँव धड़ाक , जिलां साहिबजांदा अजीत सिंह नगर (मोहाली) मे रहता हुँ। मैं ज्यादातर... View full profile
You may also like: