Jun 18, 2019 · गीत
Reading time: 1 minute

धरती हिंदुस्तान की

धन्य धन्य है धरा हमारी
ये भूमि बलिदान की
सबसे प्यारी सबसे न्यारी
धरती हिंदुस्तान की

जहाँ पे जन्मे राम कृष्ण
और गाथा है हनुमान की
सबसे प्यारी सबसे न्यारी
धरती हिंदुस्तान की

ये धरती है गौतम बुद्ध की
महावीर के तेज की
इसे सवांरा राजा भरत ने
ये माटी कल्याण की

यहाँ पुरु का पोरस चमका
यहाँ पराक्रम विक्रम का
राणा का स्वाभिमान जगा यहाँ
हाकिम का बलिदान यहाँ

यहाँ त्याग है पन्ना धाय का
रानी का सिरदान यहाँ
सिंह से लड़ने वाले बालक
पृथ्वी का अभिमान यहाँ

यहाँ चतुरता अकबर की है
शाहजहां का ताज यहाँ
चाणक्य की है कूटनीति और
राजा भोज महाराज यहाँ

यहाँ कवि दिनकर निराला
रसधारा रसखान की
सबसे प्यारी सबसे न्यारी
धरती हिंदुस्तान की

– पर्वत सिंह राजपूत “अधिराज”

6 Likes · 6 Comments · 202 Views
Copy link to share
Parvat Singh Rajput
11 Posts · 1.6k Views
You may also like: