Skip to content

धरती की महिमा

कवि कृष्णा बेदर्दी

कवि कृष्णा बेदर्दी

दोहे

January 11, 2018

आश्रय देती गोद में, सदा लुटाती प्यार ;
धरती धीरज धारती, सहती कष्ट अपार ;
सहती कष्ट अपार, सभी मन शांति डालती ;
देती अन्न अपार, सभी का पेट पालती ;
बेदर्दी बता रहा, है कि धरती है माता ;
हिंदू हो या मुस्लिम, सबकी है अन्न दायिनी ;

……

Share this:
Author
कवि कृष्णा बेदर्दी
कवि कृष्णा बेदर्दी ( डाक्टर) जन्मतिथि-०७/०७/१९८८ जन्मस्थान- मधुराई (तमिलनाडु) शिक्षा मैट्रिक -विलेपार्ले(मुम्बई) शिक्षा मेडिकल - B.A.M.S.(लन्दन) प्रकाशित पुस्तक- हिन्दी_हमराही,अनुभूति,महक मुसाफिर, तेलुगु, हिन्दी-तेलुगू फिल्मों में गीतकार शौक_ डांस,अभिनय,गिटार,लेखन, नम्बर- +918319898597 Email I'd kavibedardi@gmail.com, Facebook link https://m.facebook.com/Bedardi? Twitter_@kavibedardi
Recommended for you