मुक्तक · Reading time: 1 minute

दो पल..

कभी हमसे भी दो पल की…
“मुलाकात” कर लिया करो…..

क्या पता आज हम तरस रहे हैं…
कल “तुम” ढुढते फिरो……!!

2 Likes · 48 Views
Like
49 Posts · 2.9k Views
You may also like:
Loading...