· Reading time: 1 minute

दो दोहे

दुनिया में जो भी मिला, भागते हुए,
रोक पूछा नहीं, वो भी,संग हो लिए.
.
देखो देखा देखी चलेगी, कबतलक,
मर्ज की तलाश पूरी न हो तबतलक

4 Likes · 4 Comments · 127 Views
Like
Author
526 Posts · 53.6k Views
निजी-व्यवसायी लेखन हास्य- व्यंग्य, शेर,गजल, कहानी,मुक्तक,लेख
You may also like:
Loading...