दोहे · Reading time: 1 minute

दोहे

दोहे
” योग ”
१) योगासन नियमित करे,हर क्षण रहे निरोग।
करें दूर बीमारियां, योग करे जो लोग ।।

२) जीवन में लाता सदा , योग प्रयोग निखार ।
नियमित इसको कीजिये ,होगा तभी सुधार ।।

३) मोटापे से खीझ कर , करते है व्यायाम ।
तब जाकर मिलता उन्हें , थोड़ा सा आराम ।।

४) भारत ने सिखला दिया , सारे जग को योग ।
खुशी-खुशी करते दिखें , इसका लोग प्रयोग ।।

५) छोटे मोटे कष्ट हों, योगासन से दूर ।
नहीं योग जो नित करें,रहें कष्ट में चूर ।।

६) सुबह साँझ करिये सभी , आसन भाति कपाल।
फर्क तर्क फिर देखिये , क्या है योग कमाल।।

पुष्प लता शर्मा

1 Like · 5 Comments · 52 Views
Like
9 Posts · 543 Views
You may also like:
Loading...