23.7k Members 50k Posts
Coming Soon: साहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता

दोहे योग दिवस पर

योग दिवस का कीजिए,मन भावन सत्कार!
होता है हर योग से,..रोगों का उपचार !!

योग दिवस का देश पर,ऐसा चढा बुखार !
जिसको देखो कर रहा,..योगासन दमदार!!

बीमारी होगी नहीं , .देखे हैं परिणाम !
योगासन नियमित करें,करें रोज व्यायाम !!

क्या होते हैं फायदे,योगासन के यार !
सिखलायेगा इंडिया सीखेगा संसार !!

मना रहा संसार जब,योग दिवस को आज!
होते हैं कुछ लोग पर,.नाहक ही नाराज!!
रमेॆश शर्मा.

1 Like · 3098 Views
RAMESH SHARMA
RAMESH SHARMA
मुंबई
498 Posts · 32.5k Views
दोहे की दो पंक्तियाँ, करती प्रखर प्रहार ! फीकी जिसके सामने, तलवारों की धार! !...
You may also like: