.
Skip to content

दोहे बाल दिवस पर

RAMESH SHARMA

RAMESH SHARMA

दोहे

November 14, 2017

ऐसा कैसा बालपन,…कैसा यह व्यवहार !
बच्चों पर चलने लगी, बच्चों की तलवार ! !

उत्तरदायी कौन है,…इसका करो विचार !
दिल मे बच्चों के अगर,उगने लगे विकार ! !

भूल गए है वाकई,…बच्चे खेल तमाम !
हाथों मे जब से लिया,मोबाइल को थाम ! !

दुनिया से तो हर समय,लड़ जाये हर बाप !
पर बच्चों के सामने,..झुक जाता है आप !!

हर बच्चे को चाहिए,… शिक्षा का आधार !
इस सपने को जल्द से, जल्द करो साकार !!

पल में ही बचपन गया, पल में हुआ जवान !
पल मे हुआ अधेड़ कब,हुआ नही ये भान !!

बचपन का उसने कभी,लिया नही फिर स्वाद !
भारी बस्ता पीठ पर..,दिया अगर जो लाद ! !
रमेश शर्मा

Author
RAMESH SHARMA
अपने जीवन काल में, करो काम ये नेक ! जन्मदिवस पर स्वयं के,वृक्ष लगाओ एक !! रमेश शर्मा
Recommended Posts
मिलन के पल
प्रिय ! तुम्हारे साथ के वह पल या तुम्हारे बिना यह पल दोनों पल, कैसे हैं ये पल ? जला रहे हैं मुझे पल पल... Read more
बच्चों का त्योहार
नन्हे मुन्ने बच्चों का बाल दिवस त्योहार है । चाचाजी का समर्पित बच्चों के प्रति प्यार है ।। आज बच्चों में उत्साह बेशुमार है ।... Read more
जैन शिक्षा समृद्धि
जे.एस.एस में मिलता , बच्चों की मुश्किल का हल पढ़ो समझो, समझो पढ़ो की नीति बनाती सफल ये मंदिर है शिक्षा का यहाँ बनते हैं... Read more
आज के सूचनाक्रान्ति के युग में स्कूल जा रहे बच्चे का भविष्य ? स्कूल की जिम्मेदारी ?
Raju Gajbhiye लेख Sep 19, 2017
आज के सूचनाक्रान्ति के युग में स्कूल जा रहे बच्चे का भविष्य ? स्कूल की जिम्मेदारी ? बच्चे हर मानव के लिए जीवन का सबसे... Read more