दोहे · Reading time: 1 minute

दोहा

समसामयिक दोहे:

प्लाटिंग मौरंग उत्खनन, सभी गया जो छूट.
आय बंद सो हो रहे, मर्डर रेप व लूट..

गुंडे कातिल माफिया, अतिशय सक्रिय आज.
एकमात्र एनकाउन्टर, इनका उचित इलाज..

आत्मप्रशंसा में फँसा, यदि होगा कंगाल।
अहंकार को त्यागकर, मन हो मालामाल।।

–इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

1 Like · 50 Views
Like
133 Posts · 8k Views
You may also like:
Loading...