.
Skip to content

देवी

Rajeev 'Prakhar'

Rajeev 'Prakhar'

गीत

January 10, 2017

देकर नारी-शक्ति का नारा,
ये क्या ढोंग रचाते हैं l
देवी से नफ़रत करके,
देवी को शीष नवाते हैं l
देकर नारी-शक्ति का नारा ..

कहीं पे कोई किसी गर्भ में,
स्त्री-भ्रूण जो पलता है l
तो नाजायज़ हथकण्डों से,
उसका पता जो चलता है l
फिर मानवता के दुश्मन,
उसका क़त्ल कराते हैं l
देवी से नफ़रत करके,
देवी को शीष नवाते हैं l
देकर नारी-शक्ति का नारा ..

जब ज़रूरत हो तो बेटी भी,
बेटे सी बन सकती है l
चट्टानों के आगे वह भी,
अडिग-अचल तन सकती है l
पढ़े-लिखे लोगों में भी,
अनपढ़ से मिल जाते हैं l
देवी से नफ़रत करके,
देवी को शीष नवाते हैं l
देकर नारी-शक्ति का नारा ..

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

-राजीव ‘प्रखर’
मो. 8941912642
(वास्तविक नाम – राजीव कुमार सक्सेना)
पता – मौहल्ला डिप्टी गंज,
राधा-कृष्ण मंदिर के सामने,
मुरादाबाद – 244 001 (उ. प्र.)

Author
Rajeev 'Prakhar'
I am Rajeev 'Prakhar' active in the field of Kavita.
Recommended Posts
नारी शक्ति
.."नारी शक्ति".. ईश्वर ने भी इस नारी का सदा किया सम्मान धन की देवी लक्ष्मी शक्ति दुर्गा की पहचान हर परीवार का अनमोल गहना है... Read more
नेताओं की चरण  वन्दना
नेताओं की चरण वन्दना, या अभिनन्दन, उसका यह परिणाम,आज जनजन में क्रन्दन l कुछ तो त्याग हमें बढ़ करके करना होगा, ले लें हम संकल्प,... Read more
संकल्प
नेताओं के चरण वन्दना, या अभिनन्दन, उसका यह परिणाम,आज जनजन में क्रन्दन l कुछ तो त्याग हमें बढ़ करके करना होगा, ले लें हम संकल्प,... Read more
ममता
ममता देकर पीड़ा हरती, जब-जब संकट आते हैं l मानव ही क्या,पशु-पक्षी भी, माँ की महिमा गाते हैं l ममता देकर पीड़ा हरती...l बच्चों की... Read more