.
Skip to content

*** दूर चले जायेंगे हम ****

भूरचन्द जयपाल

भूरचन्द जयपाल

गीत

February 8, 2017

.दूर चले जाऐंगे
हम दुनियां से तेरी
पर प्यार तो करेंगे हम
तुमसे ओ सनम ।।
इकरार तो करेंगे हम
तुमसे ओ सनम ।।
दूर …………………………………………तेरी ।।
पर याद तो करेंगे हम
तुमको ऐ सनम
दूर चले जायेंगे हम
दुनियां से तेरी ।।
याद तो आएंगे हम
तुमको भी सनम
जब दूर चले जाएंगे
हम तुमसे ओ सनम ।।
दूर ……………………………………..तेरी ।।
नींद ना आएगी जब
तुमको ओ सनम
तब याद हमें तुम
करना ओ सनम ।।
दूर ……………………………………..तेरी ।।
पर प्यार तो करेंगे
हम तुमसे ओ सनम
याद तो आती होगी
तुमको भी मेरी
पर दिल ही दिल हमें
प्यार करना ओ सनम ।।
दूर ………………………………………..तेरी ।।
पर प्यार तो करेंगे हम
तुमसे ओ सनम ।। ओ सनम
?मधुप बैरागी

Author
भूरचन्द जयपाल
मैं भूरचन्द जयपाल स्वैच्छिक सेवानिवृत - प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, कानासर जिला -बीकानेर (राजस्थान) अपने उपनाम - मधुप बैरागी के नाम से विभिन्न विधाओं में स्वरुचि अनुसार लेखन करता हूं, जैसे - गीत,कविता ,ग़ज़ल,मुक्तक ,भजन,आलेख,स्वच्छन्द या छंदमुक्त रचना आदि... Read more
Recommended Posts
चलो चले हम, गाँव चले हम! आओ चले हम, गाँव चले हम! ये झुटी नगरी, छोड़ चले हम! ये झुटे सपने, तोड़ चले हम! चलो... Read more
*** तेरी गली में हम***
आये है घर छोड़ के अपना साजन तेरी गली में हम मिले चाहे ख़ुशी या ग़म अपना घर छोड़ आये हम मिलना अब हम तुम... Read more
दूरी बनाम दायरे
दूरी बनाम दायरे सुन, इस कदर इक दूजे से,दूर हम होते चले गए। न मंजिलें मिली हमको, रास्ते भी खोते चले गए। न मैं कुछ... Read more
इस जहाँ के  अँधेरे  मिटायेंगे हम  !  एक सूरज नया फिर  उगायेंगे हम !!
? मत्ला *** 1 *** इस जहाँ के अँधेरे मिटायेंगे हम एक सूरज नया फिर उगायेंगे हम *** हुस्ने मत्ला 2 *** एक मत्ला तुम्हे... Read more