** दुआ **

यूँ ही बेवजह ख़ुशी जब अपने भीतर पाया करो !
कोई कर रहा होगा दुआ तुम्हारे लिए जान जाया करो !!

मिलती नहीं ख़ुशी यूँ ही बेवक़्त बेवजह हर किसी को !
इस ख़ुशी के पीछे की असली वजह भी जान जाया करो !!

देखे होंगें ज़माने में खुशियों के त्यौहार बहुत तुमने !
उस ख़ुशी के पीछे की हकीकत भी जान जाया करो !!

जब भी निकलती है दुआ किसी दिल से !
दूर तलक उसकी सदा आती है मान जाया करो !!

यूँ ही मिलती नहीं ख़ुशी बेवजह बेरहम इस ज़माने में !
दिल से निकली दुआ को दिल से जान जाया करो !!

न जाने किसकी दुआओं का असर होगा तुम्हारे मुस्कुराने में !
थोड़ा ही सही पर शुक्रिया तो दिल से मान जाया करो !!

Like 3 Comment 0
Views 692

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share